वेब होस्टिंग क्या है ये कितने प्रकार की होती है – What is web hosting?

आखिर वेब होस्टिंग क्या है (What is web hosting) और ये कितने प्रकार की होती है? यदि आपकी खुद की कोई Website या Blog है तो कभी न कभी आपका सामना Web Hosting शब्द से जरूर हुआ होगा. कोई भी Website सही तरह से चल पा रही है या नही इसमे काफी हद तक रोल Hosting का ही होता है. इसलिए आपको इसकी जानकारी होना बहुत जरूरी है.

अगर आप होस्टिंग प्लान चुनते वक़्त थोड़ी समझदारी दिखाएँ और सही जानकारी के साथ प्लान चुनें, तो आपको कोई भी समस्या का सामना नही करना पड़ेगा। आपको इसकी सही जानकारी देने के लिए मैंने यह article लिखा है. इस article में हम जानेंगे कि “वेब होस्टिंग क्या होती है” हिंदी में और ये कैसे काम करती है.

वेब होस्टिंग क्यों जरूरी है – Why is web hosting important

Web Hosting kya hai

दोस्तों यदि आप प्रोफेशनल Blogger बनना चाहते हैं तो आपको यह पता होना चाहिए कि इस वक़्त ब्लॉगिंग के मुख्य रूप से दो Platform काफी ज्यादा प्रचलित हैं। जिसमें से एक Blogger है, और दूसरा WordPress. Blogger को Manage करने का काम खुद Google करता है, क्योंकि यह खुद Google के द्वारा जारी किया गया platform है। इसे खुद Google ने Launch किया था।

वही WordPress के साथ बाकी के सभी platform अलग अलग कंपनियों के द्वारा Launch किये गए हैं.

अब Blogger और WordPress के बीच सबसे बड़ा अंतर Hosting को लेकर आ जाता है। चूंकि Blogger खुद Google का ही एक Part है, इसलिए इसकी होस्टिंग खुद Google करता है। लेकिन बाकी दूसरे प्लेटफॉर्म जैसेकि wordpress के लिए Google यह सुविधा नही देता है। अब बिना Hosting के कोई Website चल ही नही सकती है।

यदि आपको अपनी Website WordPress में चलानी है तो आपको Hosting लेनी पड़ेगी, नही तो आप वेबसाइट नही चला पाएंगे.

अब आपको Hosting की जरूरत क्यों पड़ती है ये मालूम चल गया है.

तो चलिए अब आगे जानते हैं कि आखिर Hosting क्या होता क्या है.

वेब होस्टिंग क्या है – What is Web Hosting

Hosting क्या है, वेब होस्टिंग और कुछ नहीं बल्कि सिर्फ एक Storage है. जहाँ पर आप अपनी वेबसाइट का सारा डाटा रखते है. जब आप कोई वेबसाइट बनाते हैं तो उसमें वीडियो, इमेज, टेक्स्ट आदि सब डालते हैं, ताकि Visitors को अच्छा अनुभव मिल सके। पर यह सारा Data रखने के लिए आपको एक जगह की जरूरत पड़ेगी और वह जगह Hosting देती है।

इसका जवाब जानने के लिए एक उदाहरण देख लेते हैं, मान लीजिए आपके मन मे एक विचार आया कि आप एक किराने की दुकान खोलना चाहते हैं। इसके लिए आपको जरूरत पड़ेगी, कुछ फर्नीचर की जिसमे आप दुकान का सामान रख सकें और सबसे जरूरी एक कमरा जहाँ पर आप दुकान लगा सकें। ताकि customer वह पर आकर अपनी जरूरत का सामान ले सके. बिल्कुल इसी तरह हमारी वेबसाइट के डाटा को रखने के लिए किसी जगह की जरूरत होती है. उसे हम होस्टिंग कहते है जो 24 hours internet से connect रहती है.

आपके वेबसाइट में जितना ज्यादा Content होगा आपको उतने ज्यादा GB की Hosting Website के लिए लेनी होगी।

चलिए अब जानते हैं कि आखिर Web Hosting काम कैसे करती है?

वेब होस्टिंग काम कैसे करती है – How does web hosting work

Hosting के काम करने का तरीका बहुत ही आसान सा होता है। जैसा कि ऊपर बताया कि web Hosting को आप Storage भी कह सकते हैं। Hosting देने वाली कंपनी के पास कई High Speed कंप्यूटर होते हैं। ये Computer असल मे server कहलाते हैं।

एक और खास बात यह है कि ये कंप्यूटर 24 घंटे और 365 दिन वेब से जुड़े हुए होते हैं।

आपकी वेबसाइट खुल पाए इसके लिए यह बहुत जरूरी है कि आपकी होस्टिंग सर्वर हमेशा इंटरनेट से जुड़ा रहे।

दोस्तों अब यह प्रश्न उठता है कि आखिर visitor आपके Data तक कैसे पहुँचते है, क्योंकि उस कंप्यूटर में तो कई लोगों का डाटा हो सकता है। यहाँ पर रोल होता है आपके Domain name का, जो server को उस domain से जुड़े Data को खोजने में Help करता है। जैसे ही कोई Visitor आपकी Website को किसी ब्राउज़र में डालता है तो server यानी कि वह High speed कंप्यूटर आपके कंटेंट को दिखा देता है।

आप अपने वेबसाइट की Hosting खुद भी कर सकते हैं. (You can also host your website yourself.)

जी हाँ आपने सही पढ़ा है। आप चाहे तो अपनी वेबसाइट की होस्टिंग खुद भी कर सकते हैं।

लेकिन इसमें Risk है। यदि आपका लैपटॉप जिसमें आपकी वेबसाइट का Data स्टोर है वह थोड़ी देर के लिए भी बंद होती है तो कोई भी आपकी वेबसाइट तक नही पहुँच पाएगा। वही दूसरी दिक्कत डाटा के Damage होने की भी है। रख रखाव सही से ना होने के कारण आपका Data हमेशा के लिए Delete भी हो सकता है, इसलिए Hosting खरीद लेना ही बेहतर है।

वेब होस्टिंग कितने प्रकार की होती है – Types of Web Hosting

Hosting मुख्य रूप से 4 प्रकार की होती है। यदि आपने वेबसाइट बनाई है तो होस्टिंग लेने से पहले यह जरूर जान लें कि हर तरह की hosting की क्या खासियत है।आपकी वेबसाइट के लिए किस तरह की होस्टिंग की जरूरत है यह जानना भी बहुत जरूरी है। यह जानकारी होने के बाद ही वेबसाइट के लिए Hosting चुनें।

तो चलिए जानते हैं वेबसाइट Hosting के प्रकार.

  • शेयर्ड वेबहोस्टिंग ( Shared Web Hosting )
  • वर्चुअल प्राइवेट सर्वर ( Virtual Private Server )
  • डेडिकेटेड वेब होस्टिंग ( Dedicated Web Hosting )
  • क्लाउड वेब होस्टिंग (Cloud Web Hosting)

1. शेयर्ड वेबहोस्टिंग ( Shared Web Hosting )

कोई भी वेबसाइट होल्डर सबसे पहले Shared Web Hosting के बारे में ही सोचता है क्योंकि यह web Hosting सबसे सस्ती होती है। Shared वेब Hosting जैसा कि नाम से स्पष्ट है कि इसमें sharing होती है। shared Hosting में होता यह है कि एक ही कंप्यूटर में कई लोगों को Storage करने दिया जाता है।

मतलब एक कंप्यूटर का इस्तेमाल कई website करती है।

इस तरह सारी website एक ही Ram का इस्तेमाल करती है। इसी वजह से यह Hosting काफी सस्ती होती है।

लेकिन यह होस्टिंग तभी तक अच्छी है जब तक आपकी वेबसाइट नई है या कम डाटा है। लेकिन ज्यादा डाटा होने पर आपको दिक्कत हो सकती है। आपकी वेबसाइट पर यदि ज्यादा Visitor आने लगे हैं तो यह Hosting फिर उनका Load नही सह पाएगी। फिर आपकी वेबसाइट के साथ ही दूसरों की वेबसाइट की स्पीड भी Slow हो जाएगी।

इसलिए Shared Website ज्यादा दिनों तक न ले रखें। इसे जल्द ही बदल दें।

2. वर्चुअल प्राइवेट सर्वर ( Virtual Private Server )

Virtual Private Server भी hosting का ही एक प्रकार है। यह काफी हद तक Shared वेब hosting की तरह ही होती है लेकिन इसमें Drawback कम होते हैं।Virtual Private Server में आपकी website के लिए एक Virtual Server बना दिया जाता है। इसमे भी computer एक ही रहता है लेकिन उसके Physical Resource को Virtual Server में बांट कर अलग अलग वेबसाइट को दिया जाता है।

इस तरह की होस्टिंग का फायदा यह होता है कि आपको एक Personal Server मिल जाता है।

उस server में सिर्फ आपकी website है। इसलिए बाकी Website का प्रभाव आपकी वेबसाइट पर नही पड़ता है।

जरुर पढ़े: 

3. डेडिकेटेड वेब होस्टिंग ( Dedicated Web Hosting)

Dedicated Web Hosting में किसी भी तरह की दिक्कत नही होती है। इसमे आपको पूरा Storage दिया जाता है।

आपको Website के लिए एक Physical Server यानी कि Computer होता है, जो सिर्फ आपकी वेबसाइट के Data Store करता है। वैसे एक नार्मल वेबसाइट के लिए इस तरह की होस्टिंग की जरूरत नही होती है। इस तरह की वेब Hosting सिर्फ वही website लेती हैं, जो Commercial पर्पज  लिए बनी हैं।जिनका ट्रैफिक रोजाना लाखों में होता है।

4. क्लाउड वेब होस्टिंग

आजकल सबसे ज्यादा चलन क्लाउड वेब होस्टिंग (Cloud Web Hosting) का ही है। इस Hosting की खासियत यह है कि चाहे आपकी site पर कितना भी ट्रैफिक आ जाए, पर website कभी डाउन नही होगी। Cloud Web Hosting कोई Physical server नही है, इसे कई Virtual Servers मिलकर एक Compound Server बनाते है, जिसे Cloud Web Hosting कहा जाता है।

Cloud Web Hosting कोई एक सर्वर नही बल्कि Servers का एक समूह है, जो सभी मिलकर Website को संभालते हैं।

आज आपने की सिखा?

मुझे आशा है कि आपको मेरे आर्टिकल Web Hosting क्या है (What is web hosting in Hindi) को पढ़ कर होस्टिंग से जुड़े काफी सवालों का जवाब आपको मिल गया होगा। दोस्तों मेरा नाम Arun Sharma है और मेरी वेबसाइट का नाम thehindiguide.com है. आप health से relate किसी भी जानकारी के लिए मेरी वेबसाइट पर जरुर visit करे. यदि आपको यह आर्टिकल Useful लगा हो तो Comment करके जरूर बताएँ।

मेरा आपको निवेदन है कि इस पोस्ट को share जरुर करे.

यह article पढने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद

3 thoughts on “वेब होस्टिंग क्या है ये कितने प्रकार की होती है – What is web hosting?”

Leave a Comment