Computer क्या है: कंप्यूटर की पूरी जानकारी हिंदी में

Computer kya hai? (What is Computer in Hindi)

यह कंप्यूटर क्या है (What is Computer in Hindi) और कंप्यूटर कैसे काम करता है. आपने स्कूल, कॉलेज, ऑफिस आदि में इसे जरुर देखा होगा. आज के समय में लगभग सभी कामो को करने के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है. इसलिए आपको कंप्यूटर की परिभाषा क्या है मालूम होना जरूरी है. आज हम आपको कंप्यूटर किसे कहते है की पूरी जानकारी हिंदी में देने वाले है.

आज के समय में Computer का प्रयोग हर श्रेत्र में किया जाता है. कंप्यूटर के इस्तमाल से काम को बहुत कम समय में और आसानी से किया जा सकता है. किसी भी कंपनी में काम करने के लिए computer की knowledge होना जरूरी है. आज हम आपको कंप्यूटर का फुल फॉर्म और ये कैसे काम करता है की पूरी जानकारी देने वाले है जो आपके काम आने वाली है. तो चलिए शुरू करते है और जानते है कि “कंप्यूटर क्या होता है” हिंदी में.

कंप्यूटर क्या है’ (What is Computer in Hindi)

What is Computer in hindi
What is Computer in hindi

Computer एक electronic मशीन है जो दियें गयें निर्देशो के अनुसार डाटा को प्रोसेस करके काम के योग्य बनाती है. कंप्यूटर का आविष्कार Calculation करने के लिए किया गया था, जिसे हिंदी में “संगणक” कहतें है जिसका का मतलब “गणना” करना होता है. अगर हम Computer को सिर्फ एक Calculator कहें तो यह कहना गलत होगा क्योंकि आज के समय में कंप्यूटर का प्रयोग और बहुत सारे कामों को करने के लिए किया जाता है.

अगर हम यह कहें कि Computer हमारे द्वारा दिए गए निर्देशों के अनुसार काम करता है तो यह बिल्कुम भी गलत नहीं है. क्योंकि कि कंप्यूटर खुद कोई भी काम नहीं करता. यह हमारे द्वारा दिए गए निर्देशों को follow करकें काम को पूरा करता है. Computer मुख्य रूप से तीन हिस्सों में काम करता है.

  • Computer input device की मदद से डाटा को सवीकार करता है.
  • कंप्यूटर हमारे या Software द्वारा दिए गए निर्देशों के अनुसार उस डाटा को process करता है.
  • Finally उस डाटा को उपयोग करने योग बनाकर Output device के जरिये हमें देता है.

फुल फॉर्म ऑफ़ कंप्यूटर क्या है (Computer Full Form in Hindi)

Computer एक बहुत उपयोगी मशीन है, जिसका प्रयोग लगभग सभी तरह के कामो में किया जाता है, बहुत से ऐसे काम भी है जिनको Computer और internet के इलावा किया नहीं जा सकता, इससे आप अंदाजा लगा सकते है कि कंप्यूटर की जानकारी होना कितना आवश्क है, पर आज के समय में ऐसे भी लोग है जिनको computer ka full form नहीं पता है, इसलिए हम आज आपको Computer Full form in hindi में बताने वाले है,

Computer में use हर word का कुछ मतलब है, जिनको मिला कर एक meaning full word “Computer” बना है|

C = Commonly

O = Operating

M = Machine

P = Particularly

U = Used in

T = Technology

E = Education and

R = Research

Computer full form in hindi

“आमतौर पर ऑपरेटिंग मशीन विशेष रूप से प्रौद्योगिकी शिक्षा और अनुसंधान में उपयोग की जाती है”

कंप्यूटर की परिभाषा क्या है (Computer definition in hindi)

Computer एक मशीन है, जो दियें गयें निर्देशों का पालन करके बिना कोई गलती करे बहुत कम समय में काम को पूरा करता है, आसान भाषा में कहे तो, “Computer एक ऐसा यंत्र है जो डाटा को सवीकार करता है और उसे दिए गए निर्देशों के मुताबक process करकें हमें देता है,

यह शब्द Computer, अंग्रेजी भाषा के शब्द “Compute” से लिया गया है, जिसे हिंदी में “गणना” करना कहते है.

कंप्यूटर के काम करने का तरीका:

Input: – कंप्यूटर input device के माध्यम से डाटा को सवीकार करता है, जैसेकि Keyboard, Mouse अदि, यह सभी device software की मदद से काम करते है,

Process: – डाटा को सवीकार करने के बाद कंप्यूटर दियें गए निर्देशों के अनुसार Software और Hardware की मदद से डाटा को Process करता है,

Output: – तीसरा काम होता है Process कियें गयें डाटा को Output devices की मदद से User को मोहिया करवाना होता है, Output device जैसेकि Monitor, Printer अदि |

Store: – कंप्यूटर डाटा को प्रोसेस करके output देने के साथ साथ उस डाटा को hard drive पर Store भी करता है, जो लम्बे समय तक कंप्यूटर में Save रहता है,

Computer ये सभी काम Hardware or Software की मदद से करता है, इन दोनों के बिना कंप्यूटर कोई भी काम नहीं कर सकता, तो चलिए हम अब Hardware और Software के बारे में भी जान लेते है, जो आपके लिए जरूरी भी है.

यह भी जरुर पढ़ें: Domain Name क्या है पूरी जानकारी इन हिंदी?

Hardware क्या है (What is Computer Hardware in Hindi)

Hardware का कंप्यूटर में बहुत महत्त्व है क्योंकि इसके बिना कोई भी काम नहीं किया जा सकता, हार्डवेयर कंप्यूटर का वो part होता है जिसे हमारे द्वारा देखा और छुआ जा सकता है| जैसेकि

Keyboard – keyboard एक input device है जिसके बिना हम computer में डाटा को नहीं डाल सकते है, सभी लिखने वाले काम keyboard के जरिये किये जाते है.

Mouse – Mouse का प्रयोग Monitor पर किसी भी file को open, close, copy अदि करने के लिए किया जाता है,

Monitor: – Monitor कंप्यूटर का बहुत महत्वपूर्ण part है, जिसका प्रयोग डाटा का output देखने के लिए क्या जाता है.

Printer – यह एक output device है, इसके जरिये डाटा का प्रिंट निकला जाता है.

Scanner – Scanner एक input device है, यह image या file के रूप में डाटा को कंप्इयूटर में डालता है.

Mother Board – यह device कंप्यूटर का दिमाग होता है जिसके जरिये हम computer को निर्देश दे सकते है, Mother board में वो सारे यंत्र होते है जिनकी मदद से कंप्यूटर काम करता है, इसकी मदद से कंप्यूटर से सभी part काम करते है क्योंकि सभी part motherboard से जुड़े होते है |

Ram – Ram को हम Random Access Memory कहते है, इसमें डाटा temporarily store होता है, जब हम कंप्यूटर पर कुछ काम कर रहे होते है तो वो डाटा RAM पर store होता रहता है, पर काम खत्म करने के बाद हमें उस डाटा को hard disk में save करना होता है,

Hard Drive – हार्ड ड्राइव का प्रयोग डाटा को लम्भे समय तक store करने के लिए किया जाता है.

Microprocessor: – यह computer का मुख्य part होता है, इसकी मदद से कंप्यूटर की गति और श्रमता बड़ती है.

इसके इलावा और भी बहुत सारे hardware होते है जो कंप्यूटर में प्रयोग किये जाते है.

कंप्यूटर सॉफ्टवेर क्या है – What is Computer Software in Hindi?

Software का कंप्यूटर में बहुत ज्यादा महत्त्व होता है, software को छुआ नहीं जा सकता क्योंकि यह कुछ code होते है जिनको hard drive में install किया जाता है, लगभग सभी hardware device को software के द्वारा निर्देश दिए जाते है जिनकी मदद से computer को यह पता चलता है कि काम को किस तरह से करना है|

हमारे और कंप्यूटर के बीच software एक कड़ी के रूप में काम करता है, यह हमारे द्वारा दिये गए निर्देशों को हार्डवेयर के माध्यम से computer तक पहुँचता है, Software के बिना हार्डवेयर अपना काम नहीं कर सकते है

जैसेकि printer, keyword, Mouse अदि को work करने के लिए Drivers की जरूरत होती है, जब हम drivers को hard drive पर install कर देते है तब यह सभी hardware device काम करती है.

कंप्यूटर की इतिहास क्या है – History of Computer in Hindi

कंप्यूटर का आविष्कार मुख्य रूप से गणना करने के लिए किया गया था. क्योंकि उससे पहले Calculation करना बहुत मुश्किल था, Charles Babbage ने सन 1822 में “Differential Engine” नाम का एक Mechanical कंप्यूटर बनाया था, जिस वजह से उन्हें कंप्यूटर के पिता के नाम से जाना जाता है,

उसके बाद उन्होंने सन 1837 में “Analytical engine” नाम का एक system किया और उसे दुनिया के सामने लेकर आये. Analytical Engine में Arithmetic and Logic unit और integrated memory का प्रयोग किया गया,

इसके बाद computer में काफी development हुई जिसमें बहुत सारे लोगो ने अपना योगदान दिया. आज के computer Analytical Engine के base पर काम करते है. तब से लेकर आज के कंप्यूटर तक पहुँचने का जो सफर रहा है उसके बारे में आपको समझाने के लिए हमने इसे generation में divide किया है

Generation of Computer in Hindi

First Generation (1940 – 1956)

जब कंप्यूटर का विकास शुरू हुआ तो सबसे पहले इसकी memory पर जोर दिया गया, सबसे पहली Generation के कंप्यूटर में memory के लिए Vaccum tubes, circuitry और Magnetic Drum का प्रयोग किया गया, यह Size में बहुत ज्यादा बड़ी होने के कारण बहुत ज्यादा जगह को cover कर लेती थी,

इस generation के कंप्यूटर में Machine Language का इस्तमाल किया जाता था, जैसेकि UNIVAC और ENIAC.

Second Generation (1956 – 1963)

Second generation के कंप्यूटर में vacuum tubes की जगह पर transistors का प्रयोग होने लगा, यह size में छोटे थे और इनकी Speed fast थी, आकार में छोटे होने के कारण यह बहुत कम जगह में fit हो जाते थे,

इनमें High Level programming language का प्रयोग किया जाता था जैसेकि COBOL और FORTRAN.

Third Generation (1963 – 1971)

Third generation के कंप्यूटर में transistors की जगह पर integrated circuits का प्रयोग किया गया, इसमें transistors को silicon chips के डाला गया जिसे semiconductor भी कहा जाता है. इनके प्रयोग से कंप्यूटर के speed और श्रमता में काफी बड़ा असर देखने को मिला.

इनके प्रयोग से computer का size छोटा हो गया और इनको अब table पर रखा जा सकता था,

Fourth Generation

Fourth generation के कंप्यूटर में microprocessor का इस्तमाल किया जाता है, जिसे हम आज use करते है, सबसे पहला microprocessor intel के द्वारा बनाया गया था, जिसमें integrated circuits को silicon chip में built किया गया है, इनके इस्तमाल से कंप्यूटर को इतना छोटा कर दिया गया कि अब हम इसको अपने साथ किसी भी जगह लेकर जा सकते है जैसेकि Laptop, tablet अदि.

कंप्यूटर के प्रकार – Computer Types in Hindi

कंप्यूटर का जैसे जैसे विकास होता गया इसकी विशेषताओ को देखते हुए इसका इस्तमाल अलग अलग कामो को करने में किया जाने लगा, मैं आपको एक बात बताना चाहता हू कि जो computer हम घर में इस्तमाल करते है इसके इलावा और भी Computer होते है, कार्य के आधार पर Computer तीन प्रकार के होते है,

  1. Analog Computer
  2. Digital Computer
  3. Hybrid Computer

अब हम इन कंप्यूटर के बारे में थोडा विस्तार से जानते है.

Analog Computer (एनालॉग कंप्यूटर)

इनका इस्तमाल भोतिक आकड़ो जैसेकि तापमान, लम्बाई, हवा का दबाव, पानी का दवाब, किस जगह पर कितनी बारिश हुई अदि को इकठा करने के लिए किया जाता है,

यह कंप्यूटर इन आकड़ो को इकठा करने के लिए Analog signal का इस्तमाल करते है

Digital Computer (डिजिटल कंप्यूटर)

Digital Computer डाटा को digital form में monitor के मदद से user को दिखाते है, यह वो कंप्यूटर होते है जिनका इस्तमाल हमारे द्वारा अपने कामो को करने के लिए किया जाता है, इनकी demand बहुत ज्यादा होती है और यह market में बहुत आसानी से मिल जाते है.

यह जानकारी को दिखने के लिए binary digits 0 or 1 का इस्तमाल करते है,

हाइब्रिड कंप्यूटर

Hybrid Computer में Analog और Digital दोनों कंप्यूटर के गुण होता है, जे कंप्यूटर जानकारी को दिखने के लिए Analog signal और binary digits दोना का प्रयोग करते है, यह कंप्यूटर performance के मामले में सबसे अच्छे मानें जाते है, तापमान, लम्बाई, दबाव की जानकारी analog signal के द्वारा इकठा करते है और उसे binary digits का प्रयोग करके digital form में दिखाते है,

कंप्यूटर का उपयोग

आज के समय में लगभग हर श्रेत्र में Computer का इस्तमाल किया जाता है, क्योंकि इसके द्वारा काम को बिना गलती कियें बहुत आसानी से किया जा सकता है, हम आपको कुछ ऐसे श्रेत्र बताने वाले है जिनमें इसका इस्माल करने से क्रांतिकारी बदलाव आये है.

शिक्षा का श्रेत्र

जब से कंप्यूटर का इस्तमाल शिक्षा के श्रेत्र में शुरू हुआ है, यह शिक्षा को एक अलग सत्र पर लेकर गया है,

  • बच्चो को द्वारा lesion को digital form में समझाना आसान होता है,
  • बच्चे घर पर बैठे Computer के जरिये online class को join कर सकते है
  • कंप्यूटर के जरिये किसी भी lesion की जानकारी को internet पर सर्च किया जा सकता है

बैंक (Bank) श्रेत्र

कंप्यूटर के प्रयोग से पहले बैंकों में सभी कामो को manually किया जाता था, जिसे करने में काफी समय लगता था, और डाटा को store करके रखने में बहुत मुश्किल होती थी, पर कंप्यूटर के इस्तमाल से बैंकों की कार्यप्रणाली में बहुत सुधार आया और डाटा को store करने की Problem भी खत्म हो गई,

  • आज हम ATM मशीन के जरिये बहुत आसानी से पैसे निकल सकते है.
  • Internet banking की सुविधा भी कंप्यूटर के कारण संभव हो पाई है.
  • कंप्यूटर के इस्तमाल से electronic transition करना संभव हो पाया है

Business का श्रेत्र

बिज़नस के श्रेत्र में Computer के आ जाने से क्रांतिकारी बदलाव आये है, एक बिज़नस modal को तयार करने के लिए बहुत ज्यादा सर्च और डाटा की जरूरत होता है जिसके लिए कंप्यूटर का इस्तमाल किया जाता है, सभी important document को इसमें सुरक्षित रखा जा सकता है,

  • बहुत सारी automatic machines का प्रयोग Production को बढ़ाने के लिए किया जाता है
  • किसी भी बिज़नस का account maintain करने के लिए computer का इस्तमाल किया जाता है
  • बिज़नस meeting में product के modal को समझाने के लिए कंप्यूटर जरूरी है.

रक्षा (Defense)

आज हर देश के लिए उसकी सुरक्षा बहुत जरूरी है जिसके लिए थल सेना, जल सेना और वायु सेना की जरूरत होती है. वायु सेना द्वारा प्रयोग होने वाला मिसाइल, किसी भी Aircraft को ट्रैक करने वाला system अदि कंप्यूटर के द्वारा नियन्त्रण किया जाता है. थल और जल सेना द्वारा भी अपने सारे system को कंप्यूटर के द्वारा नियन्त्रण किया जाता है.

  • सेना द्वारा गुप्त संदेशों को भेजने के लिए कंप्यूटर और internet का प्रयोग होता है.
  • किसी भी मिसाइल को launch करने के लिए कंप्यूटर द्वारा निर्देश दिए जाते है.

इसके इलावा और भी ऐसे बुहत श्रेत्र है जहाँ पर इसका इस्तमाल किया जाता है.

जैसेकि, Science, Hospital, Communication Services, Entertainment अदि.

जरुर पढ़ें: –

Advantage and Disadvantage of Computer (कंप्यूटर के लाभ और हानिया)

Advantage of Computer

  • Computer काम को बहुत तेजी से करता है.
  • कंप्यूटर का प्रयोग करके Email भेज सकते है,
  • इनके प्रयोग से काम को करने में बहुत आसानी हो गई है
  • इसके इस्तमाल से मुश्किल Calculation को आसानी से किया जा सकता है
  • यह संचार का बहुत अच्छा माध्यम है.
  • इसके इस्तमाल से हम घर बैठे काम करकें पैसे कमा सकते है.
  • बहुत सारे कामो को एक साथ किया जा सकता है,
  • यह डाटा को लम्बें समय तक hard drive में store करके रखता है.
  • बैंकों में कंप्यूटर के इस्तमाल से काम करना आसान हो गया है.
  • शिक्षा को आसान बना दिया है.
  • बच्चे digital form में lesion को अच्छी तरह समझ पाते है.
  • किसी भी बिज़नस में उसका डाटा अहिम होता है जिसे कंप्यूटर में आसानी से रखा जा सकता है.
  • Computer के कारण online shopping को बढ़ावा मिला है.

Disadvantage of Computer

  • कंप्यूटर में Virus आने से जरूरी files Damage हो जाती है
  • इसके के लगातार प्रयोग से आखोँ पर बुरा असर पड़ता है
  • इससे generate होने वाली heat इंसानों के लिए सही नहीं होती
  • जरूरत से ज्यादा इस्तमाल समय की बर्बादी कहलाता है
  • इसके इस्तमाल से बेरोजगारी बड़ी है क्योंकि यह कई लोगो का काम अकेला कर लेता है.
  • कंप्यूटर के कारण लोग में शारीरक गति विधिय कम हो गई है.

आज आपने क्या सिखा

मुझे आशा है कि आपको ये article कंप्यूटर क्या है (What is Computer in Hindi) पढ़ कर कंप्यूटर के बारे में जानकारी प्राप्त हो गई होगी कि इसकी हमारी लाइफ में कितनी ज्यादा importance है, अगर आपको यह article पसंद आया हो तो इसे share जरुर करे,

आप ऐसे जानकारी से भरपूर पोस्ट पढनें के लिए हमारे ब्लॉग पर जरुर visit करे

अगर आपके पास हमारे लिए कोई सुझाव या प्रश्न है तो हमें comment जरुर करे

यह article पढनें के लिए आपका बहुत धन्यवाद

2 thoughts on “Computer क्या है: कंप्यूटर की पूरी जानकारी हिंदी में”

  1. Phenomenal artical sir, my computer teacher gave project this topic and seriously your word helped me amazingly………
    Sir, I’m an automobile blogger and I read your 20 tips on SEO post it really helped me thank you sir.

    Please visit my blog and please comment down you suggestion and feedback and please share it.
    My blog→ bit.ly/2Aq5UX0

    Reply

Leave a Comment