KYC Full Form: KYC का फुल फॉर्म इन हिंदी क्या होता हैं?

क्या आपने कभी सोचा है कि KYC Full Form (KYC का फुल फॉर्म इन हिंदी) क्या होता हैं? यह शब्द आपने अपने जीवन में कई बार सुना होगा। लेकिन आपने कभी नहीं सोचा होगा कि आखिर इसका मतलब क्या होता है। आज के इस आर्टिकल में हम आपको KYC की फुल फॉर्म के बारे में विस्तार से बताएंगे। चलिए, शुरू करते हैं।

KYC Full Form (KYC ka Full Form in Hindi)

KYC full form

The KYC Full Form is Know Your Customer and Know Your Credit. केवाईसी का फुल फॉर्म इन हिंदी अपने ग्राहक को जानें और अपना क्रेडिट जानें होता है। लेकिन सबसे ज्यादा इस्तेमाल Know Your Customer फुल फॉर्म का इस्तेमाल किया जाता है।

केवाईसी एक प्रक्रिया है जो वित्तीय संस्थान लेनदेन प्रक्रिया से पहले या उसके दौरान अपने ग्राहकों की पहचान और पते को सत्यापित करके उनकी प्रामाणिकता को सत्यापित करने के लिए करते हैं।

बैंकों में केवाईसी प्रक्रिया का प्राथमिक उद्देश्य व्यक्तियों को मनी लॉन्ड्रिंग जैसी अवैध वित्तीय गतिविधियों को करने के लिए बैंक का उपयोग करने से रोकना है।

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने वित्तीय लेनदेन करने वाले सभी वित्तीय संस्थानों के लिए KYC अनिवार्य कर दिया है।

What is the importance of KYC? (केवाईसी का महत्त्व क्या है?)

केवाईसी (KYC) अवैध वित्तीय गतिविधियों को रोकने के लिए एक आवश्यक कदम है। यह प्रक्रिया वित्तीय निकायों को उनकी जानकारी के बिना मनी लॉन्ड्रिंग गतिविधियों के लिए उपयोग किए जाने से भी रोकती है।

इसके अतिरिक्त, यह प्रक्रिया उन कंपनियों के लिए भी फायदेमंद है जो म्यूचुअल फंड निवेश, स्टॉक ब्रोकरेज इत्यादि जैसी सेवाओं में काम करती हैं। इस प्रकिया के माध्यम से प्रत्येक व्यक्ति के बारे में जानने में आसानी होती हैं।

इसके अलावा, कोई वित्तीय कंपनियों या व्यक्तियों की प्रामाणिकता को भी सत्यापित कर सकता है।

What are the Types of KYC? (केवाईसी के प्रकार)

केवाईसी सत्यापन प्रक्रिया दो प्रकार की होती है –

Aadhar आधारित KYC

यह एक सत्यापन प्रक्रिया है जिसे ऑनलाइन किया जा सकता है और इसलिए यह परेशानी मुक्त और सुविधाजनक है। सत्यापन के लिए ग्राहकों को अपने आधार कार्ड नंबर के जरिये KYC की प्रक्रीया पूरी करनी होती हैं। इस प्रक्रिया को E-KYC के नाम से भी जाना जाता है।

व्यक्तिगत केवाईसी

केवाईसी सत्यापन के लिए एक अन्य विकल्प इन-पर्सन इंटरेक्शन के माध्यम से है जिसमें ग्राहक को वित्तीय संस्थान या केवाईसी कियोस्क की निकटतम शाखा में जाना होता है और अपनी पहचान प्रमाणित करनी होती है।

कुछ परिस्थितियों में, केवाईसी पंजीकरण कार्यकारी भी सत्यापन के लिए ग्राहक से संपर्क कर सकता है।

हाल ही में, कुछ कंपनियों ने वीडियो कॉलिंग सेवाओं की पेशकश की है जिसमें ग्राहक को कॉल के दौरान अपने मूल दस्तावेज प्रदर्शित करने के लिए कहा जाता है।

जैसेकि अगर किसी व्यक्ति ने Digital Signature के लिए आवेदन करना है तो उसे Video KYC करनी होती है Video के दौरान उसे अपने Original Documents को Show करना होता हैं और अपने documents को Upload भी करना होता है।

KYC Documents (केवाईसी दस्तावेज)

केवाईसी दस्तावेज़ का अर्थ है व्यक्तियों या कंपनियों का एक दस्तावेज़ जो उनकी पहचान और पते को सत्यापित कर सकता है। सबसे अधिक अनुरोधित दस्तावेज आधार कार्ड और पैन कार्ड हैं, ऐसे अन्य दस्तावेज हैं जिनका उपयोग विभिन्न वित्तीय संस्थानों में केवाईसी सत्यापन के लिए किया जा सकता है। इनमें से कुछ हैं –

पहचान प्रमाण

कुछ दस्तावेज जो पहचान के प्रमाण के रूप में काम कर सकते हैं, वे हैं –

  1. आधार कार्ड
  2. पैन कार्ड
  3. वैध भारतीय पासपोर्ट
  4. मतदाता पहचान पत्र
  5. वैध चालक का लाइसेंस

निवास प्रमाण पत्र

कुछ दस्तावेज जो एड्रेस प्रूफ के रूप में काम कर सकते हैं, वे हैं –

  1. आधार कार्ड
  2. वैध भारतीय पासपोर्ट
  3. वैध मतदाता पहचान पत्र
  4. चालक का लाइसेंस
  5. उपयोगिता बिल (बिजली, पानी, गैस)

KYC Full Form Related FAQ: –

What is the full form of KYC?

The full form of KYC is Know Your Customer and Know Your Credit. KYC is a process that financial institutions do to verify authenticity by verifying the identity and address of their customers before or during the transaction process.

What are the KYC documents?

KYC document means a document of individuals or companies which can verify their identity and address. The most requested documents are Aadhar Card and PAN Card. Some other documents can be used for KYC verification at various financial institutions.
Aadhar Card
Pan Card
Passport
Voter ID
Driving License

CC full formBA full formComputer full form
OTT full formBPO full formWho full form
CA full formSAP full formIIT full form

Leave a Comment