Keyboard क्या है कुंजीपटल की पूरी जानकारी इन हिंदी?

यह कंप्यूटर कीबोर्ड क्या है (Keyboard in Hindi) आपने keyboard के बारे में जरुर सुना होगा. स्कूल, कॉलेज, ऑफिस आदि में कीबोर्ड का इस्तेमाल computer में डाटा input करने के लिए किया जाता है. क्योंकि Keyboard कंप्यूटर का एक input device है जिसकी मदद से हम कंप्यूटर को निर्देश देते है. इसलिए आपको कीबोर्ड की जानकारी होना जरूरी है कि कीबोर्ड क्या है (What is Keyboard in Hindi).

आपने भी कभी ना कभी कीबोर्ड (Keyboard in Hindi) का इस्तेमाल जरुर किया होगा. किसी भी प्रकार का text message, data entry या internet पर कोई भी सर्च करने के लिए Computer keyboard का इस्तेमाल करना पड़ता है. इसलिए आज मैंने सोचा क्योंना आप सबको कीबोर्ड के प्रकारों की जानकारी इन हिंदी में दी जाए, तो चलिए शुरू करते है और जानते है कि कीबोर्ड किसे कहते है पूरी जानकारी इन हिंदी.

कीबोर्ड क्या है: What is Keyboard in Hindi

keyboard kya hai hindi
What is keyboard in hindi

Keyboard (कुंजीपटल) कंप्यूटर का एक input device है. जिसकी मदद से हम कंप्यूटर को निर्देश देते है. keyboard में बहुत सारे keys को एक खास क्रम में लगाया गया होता है जिनका इस्तेमाल मुख्य रूप से text type करने के लिए किया जाता है,

कीबोर्ड को हिंदी में कुंजीपटल कहतें है.

Computer में प्रयोग किया जाने वाला keyboard टाइपराइटर के समान होता है, इसमें मोजूद alphanumeric keys की जमावट Typewriter की तरह ही होती है पर इसमें टाइपराइटर की तुलना में ज्यादा keys होते है. एक QWERTY layout वाले keyboard में लगभग 104 keys होते है इन कुंजीओं की गिनती keyboard के function के मुताबक कम या ज्यादा हो सकती है. Keyboard को कंप्यूटर जे जोड़ने के लिए PS/2 और USB (Universal Serial Bus) पोर्ट का प्रयोग किया जाता है.

जरुर पढ़ें: – 

कीबोर्ड के प्रकार – Types of Keyboard in Hindi

बाज़ार में बहुत तरह के keyboard layouts मिलते है दुनिया के अलग अलग देशों ने अपनी भाषा और सहुलियत के अनुसार keyboard layouts तयार किये है. जिन शब्दों का किसी देश में ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है उन शब्दों के हिसाब से कीबोर्ड लेआउट तयार किया जाता है. सभी layout को तयार करने का एक ही मकसद होता है कि जितना हो सके उतना fast type किया जा सके.

  1. QWERTY Keyboard Layout
  2. Non-QWERTY Keyboard Layout

QWERTY Keyboard Layout

यह दुनिया में सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाना वाला Keyboard layout है. इसका नाम भी keyboard के पहले 6 alphabet से रखा गया है. हम सब भी इसी keyboard का प्रयोग अपने कंप्यूटर और laptop में करते है. यह कीबोर्ड layout इतना ज्यादा प्रचलितं हो गया है कि कुछ लोगो का मन्ना है कि सिर्फ यही एक मात्र कीबोर्ड मोजूद है. इस layout में keys की सख्या 100 से 108 तक होती है. कुंजीओं का कम जा ज्यादा होना कीबोर्ड के function पर निर्भर करता है.

QWERTY कीबोर्ड से मिलते जुलते कुछ अन्य layout:

  • AZERTY
  • QZEARTY
  • QWERTZ

Non-QWERTY Keyboard Layout

जिन कीबोर्ड में QWERTY layout का प्रयोग नहीं किया जाता है उनको Non QWERTY keyboard layout कहा जाता है, इसका सबसे बड़ा उदाहरण “Dvorak” keyboard layout है, इसको user के हिसाब से design किया गया है ताकि वह तेजी से type कर सके, इसको चलाते समय finger के movement में कमी आती है जिस वजह से user तेजी से type कर सकता है. इसके इलावा भी कुछ Non QWERTY layout है. जैसेकि:

  • Colemak
  • Workman

कुंजीओं के प्रकार – Type of Keys

दुनिया में सबसे ज्यादा QWERTY layout वाले keyboard का प्रयोग किया जाता है इसलिए हम आपको इसी layout के बारे में जानकारी देगे, इस तरह के कीबोर्ड में लगभग 104 keys होते है जिनका प्रयोग अलग अलग कार्य करने के लिए किया जाता है. कुंजीओं के कार्य के आधार पर इन्हें छह अलग अलग श्रेणीयों में बाँटा गया है, जो इस प्रकार है.

  1. Function Keys
  2. Alphanumeric Keys
  3. Control Keys
  4. Navigation Keys
  5. Numeric Keys
  6. Indication Lights

अब हम इन कुंजीओं के बारे में detail में बात करेगे, तो चलिए शुरू करते है.

Function Keys

Function keys Keyboard में सबसे ऊपर वाली लाइन में होती है. एक कीबोर्ड में इन की सख्या F1 से F12 तक होती है. इनका प्रयोग software के मुताबक किसी विशेष कार्य को करने के लिए किया जाता है. हर program या software में इनका अलग कार्य होता है. जैसेकि F4 function key का प्रयोग Computer को shut down करने के लिए भी किया जाता है और Excel में इसका प्रयोग Formula को Repeat करने के लिए किया जाता है.

Alphanumeric Keys

इन कुंजीओं का keyboard में सबसे ज्यादा प्रयोग किया जाता है, इनको हम टाइपराइटर keys भी कह सकते है क्योंकि इनकी बनावट same to same टाइपराइटर के तरह होती है इनमें alphabet A – Z तक होते है और Numeric 0 – 9 तक होते है इनमें कुछ और भी sign (!,@,#,$,%,^,&,*,) जो Numeric keys के ऊपर बने होते है. इन keys में कुछ sign और Tab, Space, Enter, Backspace आदि keys भी शामिल होती है.

Control Keys

Control keys में Ctrl, Shift, Alt, insert, Prt sc, Scroll, Window and Menu सभी keys शामिल होती है, इनका कुंजीओं का इस्तेमाल किसी विशेष कार्य को करने के लिए अकेले या किसी अन्य keys के साथ किया जाता है. जब हम कण्ट्रोल कुंजीओं के साथ किसी अन्य कुंजी का प्रयोग करते है तो यह उस key के कार्य को बदल देता है.

Navigation Keys

Navigation keys में Arrow keys, Home, End, Page up, Page Down अदि keys शामिल होती है, इन कुंजीओं की गिनती keyboard के size के हिसाब से कम या ज्यादा हो सकती है, इन keys का इस्तेमाल mouse के रूप में भी किया जा सकता है. ज्यादा तर इन का इस्तेमाल Pages को ऊपर नीचे करने के लिए किया जाता है.

Numeric Keys

Numeric keys में 0 – 9 number, Enter और कुछ sign (+, -, /, *.) शामिल होते है, इनका प्रयोग कंप्यूटर में Number डालने के लिए किया जाता है इसके इलावा 8,6,4, and 2 number का इस्तेमाल Navigation keys के रूप में भी किया जाता है, आप Num Lock को on करके ऐसा कर सकते है.

Indication Lights

एक Keyboard में तीन तरह की Indication lights होती है, पहली Num Lock, दूसरी Caps Lock और तीसरी Scroll Lock.

  • अगर पहली लाइट जली है तो Num Lock on है जिससें Numeric keys का कार्य बदल जाता है.
  • जब दूसरी लाइट जली हो तो Caps Lock on है जिससें alphabet Capital letters में लिखे जाते है.
  • तीसरी लाइट हमें scrolling के बारे में बताती है.

जरुर पढ़ें: – 

Keyboard की कुछ मुख्य keys और उनका उपयोग

Tab key

इसका प्रयोग Keyboard में काफी बार किया जाता है, इसका इस्तेमाल shortcut key के रूप में किया जाता है,

  • एक साथ कई अक्षरों का Space देने के लिए Tab key का प्रयोग किया जाता है,
  • Shortcut key के रूप में इसका इस्तेमाल Alt और Window key आदि के साथ किया जाता है.

Shift Key

Shift key का प्रयोग typing करते समय letter को Upper और Lower Case में लिखने के लिए किया जाता है, इसके इलावा shift का इस्तेमाल line को select करने के लिए arrow keys के साथ किया जा सकता है.

Space key

Space key का इस्तेमाल बिना letter लिखे cursor को एक step आगे लेकर जाने के लिए किया जाता है.

Backspace

Backspace का प्रयोग एक step पीछें आने के लिए किया जाता है.

Home key

Home key का इस्तेमाल किसी भी पेज या file के शुरुआत में जाने के लिए किया जाता है. इस कुंजी का इस्तेमाल ज्यादा नहीं किया जाता, ज्यादातर व्यक्ति arrow keys का इस्तेमाल ऊपर जाने के लिए करते है.

Page down

इसका इस्तेमाल cursor को एक पेज नीचे लेकर जाने के लिए किया जाता है.

Arrow keys

एक keyboard में चार arrow keys होते है, जिनका इस्तेमाल cursor को चारो दिशाओं में जाने के लिए होता है. इसके इलावा इनका प्रयोग mouse के रूप में भी किया जाता है.

Page up

Page up key का इस्तेमाल cursor को एक पेज ऊपर लेकर जाने के लिए किया किया जाता है.

Ctrl Key

Ctrl key का कोई एक कार्य नहीं है, इसका इस्तेमाल shortcut key के रूप में अलग अलग कार्य करने के लिए किया जाता है. ज्यादा तर इसका इस्तेमाल copy past करने में किया जाता है.

Alt key

Alt key का भी कोई एक कार्य नहीं है क्योंकि यह एक shortcut key है और इसका इस्तेमाल अलग अलग कार्य को करने में किया जाता है, ज्यादा तर इसका प्रयोग Computer को shut down करने के लिए F4 function key के साथ किया जाता है.

कीबोर्ड का इतिहास क्या है?

अगर keyboard के इतिहास की बात करे तो इसका इतिहास इतना ज्यादा पुराना नहीं है, टाइपराइटर को keyboard के पूर्वज के रूप में जाना जाता है. क्योंकि कीबोर्ड की बनावट लगभग टाइपराइटर जैसे है. कीबोर्ड का आविष्कार सन 1868 को Christopher Latham Sholes ने किया था, वह एक अमरीकी आविष्कारक थे.

Definition of keyboard in Hindi

मुझे आशा है कि मैंने आप सबको कीबोर्ड क्या है (What is Keyboard in Hindi) के बारे में पूरी जानकारी दी है. आप सबको Keyboard के प्रकार और कुंजीओं के प्रकार के बारे में अच्छे से मालूम चल गया होगा, अगर आपको मेरे द्वारा दी गई जानकारी पसंद आई है तो आप इस article को share जरुर करे ताकि सभी को keyboard के बारे में जानकारी हासिल हो सके.

अगर आपके पास हमारे लिए कोई प्रश्न जा सुझाव है तो comment करके हमें जरुर बताये.

यह article पढने के लिए आपका बहुत धन्यवाद

2 thoughts on “Keyboard क्या है कुंजीपटल की पूरी जानकारी इन हिंदी?”

Leave a Comment