GDP Full Form: What is GDP (Gross Domestic Product) Definition?

GDP Full Form: क्या आपको मालूम है कि What is GDP (Gross Domestic Product) Definition? जीडीपी क्या है? इस शब्द का ज्यादातर इस्तेमाल TV Chenal और Political लोग करते है. आम लोगो को इसके बारे में ज्यादातर जानकारी नहीं होती. इसलिए आज के इस लेख में हम जीडीपी पर डिटेल में चर्चा करेगें.

किसी भी देश की अर्थव्यवस्था के बारे में बताने के लिए जिस शब्द का इस्तेमाल किया जाता है वह शब्द GDP है. जीडीपी को निकालने के लिए कुछ Formulas का प्रयोग किया जाता है. जो हमें दर्शाते है कि देश की अर्थव्यवस्था किस तरफ जा रही है. इस लेख में हम आपको जीडीपी के सभी पहलुओं से अवगत करवायेगे. तो चलिए शुरू करते है और जानते है कि GDP ka full form क्या है?

GDP Full Form (जीडीपी का फुल फॉर्म)

GDP Full Form Gross Domestic Product
GDP (Gross Domestic Product)

The “GDP Full Form” is “Gross Domestic Product.” जीडीपी का फुल फॉर्म इन हिंदी सकल घरेलू उत्पाद होता है. भारत देश की राजनितिक सीमा के अंतर्गत एक साल में उत्पादित होने वाली सभी वस्तुओं (Goods) एवं सेवाओं (Services) के अंतिम मूल्य को GDP (Gross Domestic Product) कहा जाता है.

GDP के प्रमुख तीन घटक

  • Primary Component: प्राइमरी कॉम्पोनेन्ट में कृषि क्षेत्र से जुडी हुई सभी वस्तुओं का मूल्य निकाला जाता है.
  • Secondary Component: सेकेंडरी कॉम्पोनेन्ट में उध्योग क्षेत्र से जुडी सभी वस्तुओं का मूल्य निकाला जाता है.
  • Tertiary Component: तेर्तैरी कॉम्पोनेन्ट में सेवा क्षेत्र से जुडी सभी सेवाओं का मूल्य निकाला जाता है.

What is ‘GDP’ (Gross Domestic Product)?

GDP Stands for “Gross Domestic Product”. जिसे हिंदी में सकल घरेलू उत्पाद कहतें है. किसी भी देश की राजनितिक सीमा के अंतर्गत एक साल में उत्पादित होने वाली सभी वस्तुओं (Goods) एवं सेवाओं (Services) के अंतिम मूल्य को GDP (Gross Domestic Product) कहा जाता है.

उदाहरण, “अगर किसी देश में एक साल के अंदर 500 रुपये की वस्तुओं और 300 रुपये की सेवाओं का उत्पादन हुआ है तो उस देश की जीडीपी 800 रुपये है”.

इस में एक बात ध्यान देने योग्य है कि अगर कोई विदेशी कंपनी हमारें देश की सीमा के अंदर किसी वस्तु एवं सेवा का उत्पादन करती है तो वह भी हमारें देश की जीडीपी में शामिल किया जाएगा.

सकल घरेलू उत्पाद किसी देश के आर्थिक स्वास्थ्य को जानने में सहयाक होता है. इससे यह मालूम चलता है कि उस देश की अर्थव्यवस्था किस तरफ जा रही है. बढती हुई जीडीपी यह दर्शाती है कि देश की अर्थव्यवस्था मजबूत है जिससें रोजगार बढेगा और विदेशी कंपनीज देश में पैसा Invest करना चाहेगी. लेकिन गिरती हुई जीडीपी उस देश के आर्थिक स्वास्थ्य के लिए सहीं नहीं होती.

कई देशों में जीडीपी की गणना आमतौर पर वार्षिक आधार पर की जाती है. But हमारें भारत देश में GDP (Gross Domestic Product) की गणना तिमाही आधार पर की जाती है.

Types of GDP (Gross Domestic Product)Full Form

GDP को निकालने के लिए काफी सारे तरीकें है जिनका इस्तेमाल करके सकल घरेलू उत्पाद का मूल्य निकाला जाता है.

Nominal GDP Full Form

Nominal GDP (Gross Domestic Product)Full Form किसी अर्थव्यवस्था में आर्थिक उत्पादन का वर्तमान मूल्य दर्शाता है. नोमिनल जीडीपी में वस्तुओं और सेवाओं की कीमत उन मूल्यों पर आधारित होती है जो वास्तव में उस वस्तु एवं सेवा का मूल्य होता है. यानि उसमें महंगाई का मूल्य शामिल किया गया होता है. नीचें दिए गए चार्ट से आपको आसानी से समझ आ जाएगा.

YearProduct PriceQuantityGDP Amount
20175100500/-
20187100700/-
20199100900/-
2020101001000/-

ऊपर चार्ट में देखा जा सकता है कि Product की मूल्य वृद्धि की वजह से GDP में वृद्धि आई है. But वस्तु के उत्पादन में वृद्धि नहीं हुई. इसलिए नोमिनल जीडीपी को सही नहीं माना जाता.

नोमिनल जीडीपी का इस्तेमाल एक ही वर्ष के अलग-अलग तिमाहियों की जीडीपी निकालने के लिए किया जाता है. But एक से ज्यादा वर्ष का सकल घरेलू उत्पादन निकालने के लिए Real GDP full form फार्मूला का उपयोग किया जाता है. जो वस्तु एवं सेवा के उत्पादन पर आधारित होता है.

Real GDP Full Form

Real GDP किसी अर्थव्यवस्था के आर्थिक उत्पादन को दर्शाती है. वास्तविक जीडीपी एक वर्ष में वस्तुओं एवं सेवाओं के उत्पादन की मात्र पर आधारित होती है. यानि इस में महंगाई को शामिल नहीं किया जाता.

वास्तविक सकल घरेलू उत्पाद निकालने के लिए महंगाई दर को अलग कर वस्तुओं के उत्पादन पर ध्यान केंद्रीत किया जाता है. क्योंकि वर्ष-दर-वर्ष मुद्रास्फीति के बड़ने से जीडीपी बढ़ेगी. लेकिन इससे यह मालूम नहीं होता कि उत्पादित वस्तुओं एवं सेवाओं की मात्र में भी वृद्धि हुई है.

किसी अर्थव्यवस्था की आर्थिक स्वास्थ्य जो जानने के लिए किसी एक वर्ष को base year निर्धारित किया जाता है. बेस इयर के मूल्य को आधार बनाकर Current year का Gross Domestic Product का मूल्य निकाला जाता है.

जैसेः भारत देश की जीडीपी निकालने के लिए Base Year 2011-12 को लिया जाता है. यानि अगर किसी वस्तु का मूल्य बेस इयर में 10/- रूपए है तो उसको आधार बनाकर Current year का GDP निकाला जाएगा.

YearProduct PriceQuantityGDP Amount
Base Year 2011-12101001000/-
2014-15101101100/-
2015-16101151150/-
2020-21101201200/-

ऊपर चार्ट में देखा जा सकता है कि वस्तु के उत्पादन में वृद्धि के साथ-साथ Gross Domestic Product बढ़ा है. But वस्तु के मूल्य को बेस इयर के मुताबिक रखा गया है. इससें भारत देश की अर्थव्यवस्था के बारे में पता चलता है जो आगें बढ़ रही है.

वास्तविक सकल घरेलू उत्पाद फार्मूला के जरिये ही किसी देश की अर्थव्यवस्था के आर्थिक स्वास्थ्य का पता चलता है.

GDP Purchasing Power Parity (PPP)

जीडीपी का सीधा माप नहीं होने के कारन, अर्थशास्त्री Purchasing Power Parity के जरिये यह देखते है कि कैसे एक देश की जीडीपी अंतर्राष्ट्रीय डॉलर का उपयोग करके स्थानीय कीमतों और रहने के लागत में अंतर को adjust करती है.

Purchasing Power Parity में किसी देश का वास्तविक उत्पादन, आय और लोगो के Living Standard को मापता है. जैसेः

  • अगर किसी वस्तु को खरीदने के लिए भारत में 50 रूपए खर्च करने पड़ते है लेकिन वहीं वस्तु को खरीदने के लिए किसी दुसरें देश में 80 रूपए खर्च करने पड़ते है तो इस प्रस्थिति में वस्तु same है लेकिन उसके मूल्य में अंतर है.
  • Purchasing Power Parity इसी चीज को दर्शाता है. कि कोई व्यक्ति 5000 रुपये हजार कमा कर जैसा जीवन बतीत कर रहा है वहीं जीवन जीने के लिए दूसरें देश का व्यक्ति 8000 रुपयें खर्च कर रहा है.

Ways of Calculating GDP (Gross Domestic Product) Full Form

Gross Domestic Product निकालने के लिए एक Formula का उपयोग किया जाता है. आपको मालूम है कि किसी भी देश की सीमा के अंतर्गत एक साल में उत्पादित होने वाली सभी वस्तुओं (Goods) एवं सेवाओं (Services) के अंतिम मूल्य को GDP (Gross Domestic Product) कहा जाता है.

GDP = C + I + G + (X – M)

C = Consumption

I = Investment

G= Government Spending

X = Export

M = Import

Consumption (उपभोग)

Consumption का मतलब होता है उपभोग, यानि एक साल के भीतर देश के नागरिकों द्वारा देश की सीमा में घरेलू वस्तुओं पर किये गए खर्च को इसके अंदर शामिल किया जाता है.

Investing (निवेश)

Investment में सभी घरेलू निवेश को शामिल किया गया है. देश के नागरिको द्वारा अपने व्यपार को बढ़ाने के लिए मशीनरी पर खर्च किया गया पैसा भी निवेश का हिस्सा है. शेयर बाज़ार, बैंकिंग स्कीमों में लगाया गया पैसा आदि. निवेश का हिस्सा है जिसे GDP की गणना करते समय शामिल किया जाता है.

Government Spending (सरकारी खर्च)

सरकारी खर्च में सरकार द्वारा किये गए सभी प्रकार के खर्च जैसे: सरकार के द्वारा किया गया निवेश, सरकारी कर्मचारियों की तनखाह, हतियार का खरीद मूल्य, सरकारी इमारतों पर होने वाला खर्च आदि.

Export (निर्यात)

Export यानि निर्यात, वह सभी वस्तु एवं सेवा जो किसी देश द्वारा किसी दुसरे देश को दी जाती है. उन्हें GDP की गणना में शामिल किया जाता है.

Import (आयात)

Import यानि आयात, वह सभी वस्तुओं एवं सेवाओं पर किया गया खर्च, जिन्हें देश की सीमा से बहार से आयात किया गया है. जिसे GDP की गणना करके समय Export से घटा दिया जाता है.

Factor Cost

Income method में देश की सीमाओं के भीतर उत्पादन करने के लिए होने वाले खर्च जैसेः लैंड कास्ट, लेबर कास्ट, मशीनरी कास्ट, व्याज और कॉर्पोरेट लाभ शामिल होता है.

इसमें कुछ ऐसे खर्च भी होंते है जिन्हें उत्पादन करके के लिए किए गए भुगतान में जोड़ा नहीं जाता. जैसे: Sale Tax, Land Tax etc. इन सभी खर्चो को को कुल उत्पादन से घटाने से Factor Cost का पता चलता है.

Market Price

मार्किट प्राइस में देश की सीमओं के भीतर उत्पादन करने के लिए होने वाले कुल खर्च के साथ सभी प्रकार के ऋण को शामिल करने से मार्किट प्राइस जीडीपी निकलती है. 

History of GDP (Gross Domestic Product)

GDP (Gross Domestic Product) Full Form शब्द का इस्तेमाल सबसे पहले अमेरिका में 1937 में साइमन नाम के इकोनॉमिस्ट ने अमेरिकन कांग्रेस में किया था. इससे पहले किसी देश की अर्थव्यवस्था की आर्थिक स्वास्थ्य को मापने का कोई सटीक तरीका नहीं था.

उस समय विश्व की बैंकिंग संस्थाओं के द्वरा आर्थिक विकास का अनुमान लगाया जाता था. But अर्थशास्त्री साइमन ने जब GDP को अमेरिकन संसद में पेश किया तो उसके बाद अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष ने इसका इस्तेमाल करना शुरू कर दिया.

GNP Full Form

The full form GNP is Gross National Product. जिसे हिंदी में सकल राष्ट्रीय उत्पाद कहते है. GDP के साथ-साथ GNP शब्द का इस्तेमाल भी किया जाता है.

किसी देश के नागरिको द्वारा एक साल में वस्तुओं एवं सेवाओं के उत्पादन मूल्य को GNP कहा जाता है. इसमें उन्ह वस्तुओं एवं सेवाओं को भी शामिल किया जाता है जिन्हें देश के नागरिको द्वारा देश की सीमा के बाहर उत्पादन किया गया है.

GDP of India?

भारत देश की GDP साल 2019 में 2.87 lakh crores USD थी. लेकिन साल 2020 में Covid-19 के कारण इसमें बहुत ज्यादा बदलाव आया है. क्योंकि इस समय में उत्पादन में बहुत ज्यादा कमी आई है. जिसका सीधा असर भारत देश के सकल घरेलू उत्पाद के मूल्य पर पड़ेगा.

भारत देश में Gross Domestic Product की value निकालने के लिए सभी आकडे CSO यानि Central Statistics office द्वारा इकठे किये जाते है.

GDP Full Form Related FAQ (Gross Domestic Product)

What is GDP Full Form?

The GDP Full Form is Gross Domestic Product. जिसे हिंदी में सकल घरेलू उत्पाद कहते है.

What is GDP?

GDP Stands for “Gross Domestic Product”. जिसे हिंदी में सकल घरेलू उत्पाद कहतें है. किसी भी देश की राजनितिक सीमा के अंतर्गत एक साल में उत्पादित होने वाली सभी वस्तुओं (Goods) एवं सेवाओं (Services) के अंतिम मूल्य को GDP (Gross Domestic Product) कहा जाता है.

How Many Types of GDP?

GDP को निकालने के लिए काफी सारे तरीकें है जिनका इस्तेमाल करके सकल घरेलू उत्पाद का मूल्य निकाला जाता है. जैसे: नोमिनल सकल घरेलू उत्पाद, Real Gross Domestic Product, PPP (Purchasing Power Parity), Market Price GDP, Factor Cost.

How do we Calculate GDP?

GDP = Private Consumption + Gross Investment + Government Investment + Government Spending + (Export – Import).
GDP = C + I + G + (X – M)

Which Country has Highest GDP?

United States: Nominal $20.81 trillion
China: Nominal $14.46 trillion
Japan: Nominal $2.91 trillion
Germany: Nominal $3.78 trillion

What is GDP Full Form in Hindi?

GDP Full Form in Hindi सकल घरेलू उत्पाद होता है. सकल घरेलू उत्पाद का मूल्य निकालने के लिए एक साल के अंदर देश की सीमाओं में उत्पादित होने वाली सभी वस्तुओं एवं सेवाओं के अंतिम मूल्य को जोड़ा जाता है. इसमें कृषि, उद्योग और सेवाओं शामिल होती है.

GDP Full Form Related Post: –

A to Z Full Form List
UPSC full formSSC full form
CGL full formSSC CHSL full form
MTS Full FormGoogle full form
VPN full formSSC GD full form
SSC CPO full formIAS full form
BPO Full FormOTT Full Form
PDF Full FormNGO Full Form
WHO Full FormNEET Full Form
MBBS Full FormCA Full Form
BA Full FormBHK Full Form
CSAT Full FormICU Full Form
PCS Full FormPhD Full Form

Conclusion: (Gross Domestic Product)

आजके पोस्ट में हमने जाना की What is GDP (Gross Domestic Product) Definition? जीडीपी क्या है? साथ ही आपने GDP Full Form in Hindi के बारे में भी जाना है. जो सकल घरेलू उत्पाद होता है. किसी देश की अर्थव्यवस्था के आर्थिक स्वास्थ्य जो जानने के लिए जीडीपी का सहारा लिया जाता है. जो हमें बताता है कि देश कितनी गति से तर्रकी कर रहा है.

जीडीपी को मापने के लिए कई तरह के फोर्मुलास का उपयोग किया जाता है, जिसमें मुख्य रूप से दो तरह के फार्मूला का प्रयोग किया जाता है. पहला फार्मूला नोमिनल और दूसरा रियल.

मैंने आपको इस लेख में GDP के बारे में पूरी जानकारी देने की कोशिश की है और सभी प्रश्नों को कवर करने की कोशिश की है. अगर आपने यह लेख पूरा पढ़ लिया है तो अभी भी आपके मन में जीडीपी को लेकर कोई सवाल है तो हमें कमेंट के जरिये पूछे.

Leave a Comment