ATM Full Form: What is ATM (Automated Teller Machine) Meaning?

ATM Full Form: क्या आपको मालूम है कि What is ATM (Automated Teller Machine) Meaning? एटीएम क्या है? आपने बैंक अकाउंट से पैसे निकालने के लिए इसका इस्तेमाल जरुर किया होगा. But बहुत सारे लोगो को एटीएम फुल फॉर्म इन हिंदी के बारे में जानकारी नहीं है.

अगर मैं गलत नहीं हु तो आपने भी कभी न कभी अपने मोबाइल पर, “Axis Bank ATM Near me, Paytm ka ATM near me, ICICI bank ATM near me” Etc. सर्च किया होगा. क्योंकि आजके इस Electroic दौर में सभी लोग एटीएम का इस्तेमाल करते है.     

बैंकों द्वारा अपने ग्राहकों को एटीएम सुविधा प्रदान की जाती है. जिसका ज्यादातर इस्तेमाल पैसे निकालने और जमा करने के लिए किया जाता है. इस मशीन के जरिये बैंक से रिलेटेड और भी कई कामो को बहुत आसानी से किया जा सकता है. जिसकें बारे में आज हम इस लेख में जानेगे. तो चलिए शुरू करते है और जानते है कि ATM ka Full Form क्या है?

”ATM Full Form” (Full Form of ATM)

Full Form of ATM : Automated Teller Machine

ATM Full Form
ATM (Automated Teller Machine) Full Form

The “ATM full form” is “Automated Teller Machine“, “Air Traffic Management“. But Mainly ATM Stands for “Automated Teller Machine“. Some of the ATM’s more famous complete forms are mentioned at the end of this article.

A = Automated

T = Teller 

M = Machine

What is ATM (Automated Teller Machine) Meaning?

ATM Stands for Automated Teller MachineAn automated Banking Machine or Cash Machine is an Electro-Mechanical machine that consists of a computerised banking platform that allows all bank customers to transact without a branch representative or teller. ATM is mainly used to perform two types of tasks.

  • A debit and credit card holder can withdraw the deposit in his account using ATM.
  • ATM Use cash transfer, Cash deposited, bill pay, balance inquiries, ATM Card PIN Change Etc. is done.

एटीएम स्वचालित टेलर मशीन के लिए खड़ा है. स्वचालित बैंकिंग मशीन या कैश मशीन एक इलेक्ट्रो-मैकेनिकल मशीन है जिसमें स्वचालित बैंकिंग प्लेटफार्म होता है जो बैंक के सभी ग्राहकों को शाखा प्रतिनिधि या टेलर के बिना लेनदेन करने की अनुमति देता है. एटीएम का इस्तेमाल मुख्य रूप से दो तरह के कामों को करने के लिए किया जाता है.

  • डेबिट और क्रेडिट कार्ड धारक एटीएम का इस्तेमाल कर अपने खाते में जमा राशि निकाल सकते है.
  • एटीएम का इस्तेमाल Cash Transfer, Cash Deposit, Bill Pay, Balance Inquiries, PIN Change Etc. करने के लिए किया जाता है.

एटीएम के इस्तेमाल से user अतिरिक्त charges से अपने आपको बचा सकता है जो उसे बैंक शाखा से Cash Withdraw करने पर देने पड़ते है या उसके खाते से काट लिए जाते है. अगर देखा जाये तो एटीएम ग्राहकों के लिए काफी फायदेमंद है.

Automated Teller Machine का इस्तेमाल करने के लिए User को एक खास Plastic Card की जरूरत होती है जो बैंकों द्वारा अपने ग्राहकों को दिया जाता है. जिस पर एक Magnetic Strip, User की जानकारी के साथ Encoded होती है. लेकिन अब इस कार्ड की जगह एक Chip Card दिया जाता है जो Magnetic Strip Card से ज्यादा Secure है.

How to Work ATM (Automated Teller Machine) Full Form

Automated Teller Machine को Operate करने के लिए user को एटीएम के अंदर एक एटीएम कार्ड डालना होता है. प्रत्येक एटीएम कार्ड के पीछें एक Magnetic Strip पर User के खाते की जानकारी Encoded होती है. User द्वारा अपने कार्ड को मशीन में डालना या स्वैप करना होता है.

जब User अपने एटीएम कार्ड को छोड़ते या स्वैप करता है, तब एटीएम, Card Reader की मदद से User के खाते का विवरण प्राप्त करता है और User से PIN नंबर के लिए अनुरोध करता है. पिन सवीकार होने के बाद एटीएम लेनदेन की प्रक्रिया की अनुमति देता है.

Functions of ATMs

  • Deposit of cash
  • Transfer of Cash
  • Withdrawal of Cash
  • Mini Statement
  • Account Detail
  • Bill Payment
  • Account Balance Check
  • Change PIN
  • Cheque Deposit
  • Passbook Entry

Basic ATM Parts (एटीएम के पार्ट्स क्या है?)

Automated Teller Machine में दो तरह के पार्ट्स होते है, जिसकी सहायता से सभी एटीएम काम करते है.

  • Input Device
  • Output Device

Input Device

Card Reader – Card Reader एटीएम की सबसे महत्वपूर्ण डिवाइस है. यह इनपुट डिवाइस एटीएम कार्ड के पीछे चुंबकीय पट्टी में संग्रहीत जानकारी को पढ़ता है. जब कार्ड को ऑटोमेटेड टेलर मशीन में स्वाइप किया जाता है तो कार्ड रीडर चुंबकीय पट्टी पर सग्रहीत यूजर्स की जानकारी को कैप्चर करता है और बैंक के सर्वर को भेजता है. खाते से मिली जानकारी और उपयोगकर्ता से प्राप्त आदेशों के आधार पर, सर्वर कैश निकालने की अनुमति कैश डिस्पेंसर को देता है.

Keypad – Keypad उपयोगकर्ता को स्वाचालित टेलर मशीन में डाटा insert करने में मदद करता है. जैसेः एटीएम Card PIN, Cash Amount, Delete, Clear, Number Enter Etc. डालने के लिए Keypad का उपयोग किया जाता है.

Output Device

Speaker – एटीएम में Keys को दबाने पर ऑडियो फीडबैक देने Speaker का काम है.

Display Screen – Display स्क्रीन पर लेनदेन से संबंधित जानकारी प्रदर्शित होती है. यह Cash Withdraw, Cash Deposit, Mini Statement, Balance Inquires, के चरणों को एक-एक करके दिखाता है.

Printer – यह आपको मुद्रित लेनदेन के विवरण के साथ रसीद प्रदान करता है. रसीद पर आपको लेन-देन की तारीख और समय, निकासी राशि, शेष राशि संग्रहीत होती है.

Cash Dispenser – Cash dispenser एटीएम का मुख्य आउटपुट डिवाइस है, क्योंकि यह कैश को डिस्पेंस करता है. एटीएम में लगायें गए सेंसर की मदद और उपयोगकर्ता द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक कैश डिस्पेंसर सही मात्रा में Cash को निकालता है.

Type of ATM Full Form (Automated Teller Machine)

क्या आपको मालूम है! एटीएम भी कई तरह के होते है. जिनका इस्तेमाल कई जगहों पर अलग-अलग कामों को करने के लिए किया जाता है. नीचें हमनें लिस्ट में एटीएम के प्रकार के बारे में बताया है.

On Site ATM: On Site एटीएम बैंक परिसर के अंदर स्थित होते हैं.

Off Site ATM: जो एटीएम बैंकों के बहार स्थित होते है उन्हें ऑफ साईट एटीएम कहा जाता हैं.

White Label ATM: वाइट लेबल एटीएम का संचालन गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनी करती है.

Yellow Label ATM: इस तरह के एटीएम का इस्तेमाल ई-कॉमर्स लेनदेन के लिए किए जाता हैं.

Brown Label ATM: ब्राउन लेबल एटीएम का संचालन बैंकों द्वारा न होकर इसे लीज पर लिया जाता है.

Orange Label ATM: Orange label एटीएम को शेयर लेनदेन के लिए स्थापित किए जाता है. 
Pink Label ATM: यह एटीएम हैं मुख्य रूप से महिला बैंकिंग के लिए प्रयोग में लायें जाते है.

Green Label ATM: ग्रीन लेबल एटीएम मुख्य रूप से कृषि से संबंधित लेनदेन के लिए इस्तेमाल में लायें जाते है. इन्हें स्थापित करने का मुख्य उदेश्य कृषि से जुड़ीं लेनदेन की समस्या को हल करना हैं.

History of ATM (Automated Teller Machine)

सबसे पहला एटीएम 1967 में लंदन में बार्कलेज बैंक की शाखा में चालू किया गया, भारत में सबसे पहला एटीएम साल 1987 में HSBC (Hong Kong and Shanghai Banking Corporation Limited) ने मुंबई ब्रांच में लगाया था.

Automated Teller Machine ने बहुत जल्द सभी देशों में अपनी जगह बना ली. अगर हम आजकी बात करे तो दुनिया भर में लगभग 3.5 मिलियन से अधिक एटीएम परिचालन में हैं. इससे आप अंदाजा लगा सकते है कि इसने कितनी जल्दी विस्तार किया है.

Other ATM Full Form

Any Time Money
Anti-Tactical Missile
Area Training Manager
Association of Teachers of Mathematics
Air Traffic Management
Asynchronous Transfer Mode

ATM Full Form Related FAQ

What is the full form of ATM?

The ATM full form is “Automated Teller Machine”, “Air Traffic Management”. But Mainly ATM Stands for “Automated Teller Machine”.

What is an Automated Teller Machine (ATM)?

ATM Stands for Automated Teller MachineAn automated Banking Machine or Cash Machine is an Electro-Mechanical machine that consists of a computerised banking platform that allows all bank customers to transact without a branch representative or teller. ATM is mainly used to perform two types of tasks.
A debit and credit card holder can withdraw the deposit in his account using ATM.
ATM Use cash transfer, Cash deposited, bill pay, balance inquiries, ATM Card PIN Change Etc. is done.

How many types for ATM?

The two basic types of ATM are:
On-Site ATM – on site ATM are located inside the bank premises.
Off-Site ATM – off site ATMs are located outside the bank premises.

ATM Full Form Related Post: –

A to Z Full Form List
UPSC full formSSC full form
CGL full formSSC CHSL full form
MTS Full FormGoogle full form
VPN full formSSC GD full form
SSC CPO full formIAS full form
BPO Full FormOTT Full Form
PDF Full FormNGO Full Form
WHO Full FormNEET Full Form
MBBS Full FormCA Full Form
BA Full FormBHK Full Form
CSAT Full FormICU Full Form
PCS Full FormPhD Full Form
GDP Full FormIIT Full Form
SAP Full Form 

Conclusion:

आजके इस लेख में आपने ATM Full Form (एटीएम का फुल फॉर्म) के बारे में विस्तार से जाना है साथ ही हम ने आपको एटीएम मीनिंग से जुड़ीं महत्वपूर्ण जानकारी भी प्रदान की है जिसकी मदद से आपको Automated Teller Machine को समझने में कोई भी मुश्किल नहीं होगी. आपको हमारें द्वारा दी गई जानकारी कैसी लगी हमें कमेंट करके जरुर बताएं.

हमारा हर पल यही प्रयास रहता है कि हम आपके लिए ऐसी जानकारी से भरपूर पोस्ट लेकर आते रहे, हमें आपके साथ की बहुत ज्यादा जरूरत है, आप हमारे ब्लॉग को subscribe करके के हमारा साथ दे.

Leave a Comment